Kabir ke Dohe–1– बुरा जो देखन मैं चला, बुरा न मिलिया कोय,जो दिल खोजा आपना, मुझसे बुरा न कोय। अर्थ: जब मैं इस संसार ...